Close
Skip to content

4 Comments

  1. अंकुर मिश्रा
    May 31, 2020 @ 8:58 pm

    उत्तम

  2. Alok verma
    May 31, 2020 @ 11:32 pm

    बेहतरीन लिखा ,पाकिस्तान के बारे में हमारी जानकारी कम है तो जानना अच्छा लगता है किन्तु धार्मिक कट्टरपंथ पढ़कर ठीक नहीं लगा,ऐसा नहीं होना चाहिए ये सबसे बड़ी बाधा है दोनों देशों में।

  3. Ashutosh
    June 4, 2020 @ 11:29 am

    यह यात्रा वृतांत आश्चर्यचकित करने वाला है ।

  4. हितेष रोहिल्ला
    July 10, 2020 @ 7:52 pm

    यात्रा विवरण पढ़ के अच्छा लगा। सरकारों के बीच की तल्खी ना चाहते हुए भी अधिकारियों के काम में ज़ाहिर हो ही जाती है। दोनों सरकारों को इस दिशा में काम करना चहिए। विनय प्रकाश जी ने बताया है कि उन्होंने सत्रह अठारह देशों कि यात्रा की है। अगर इस मंच पे उनके और भी यात्रा संस्मरण पढ़ने को मिल जाए तो मज़ा आ जाए।

Leave a Reply